ब्रेडक्रम्ब्स

उपयोगिता सॉफ़्टवेयर

मेघ एवं छाया मास्क उपयोगिता

utility1 सुदूर संवेदन चित्रों में मेघ विभिन्न तरीकों से सूचना का एक स्रोत हैं। मेघ जलवायु प्रणाली में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और वायुमंडल के ऊर्जा संतुलन में महत्व रखते हैं। मेघआवरण मौसम की स्थिति और पूर्वानुमान से संबंधित जानकारी भी प्रदान कर सकते हैं। प्रकाशिक सुदूर संवेदन में अभिग्रहित आंकड़े मेघ की उपस्थिति से प्रभावित होते हैं। भूमि संसाधनों के अध्ययन में, मेघ सतही लक्षणों के लिए बाधा बनते हैं। ऐसे मामलों में, लक्षण की जानकारी प्राप्त करने के लिए मेघ पिक्सैल (चित्रांश) संबंधित सूचना आवश्यक है। मेघ-सीमांकन एवं मेघ-छाया पूर्व संसाधन का एक महत्वपूर्ण कदम है। किसी भी विश्वसनीय मेघ-सीमांकन के एल्गोरिदम में दृश्य बैंड के अलावा तापीय बैंड का उपयोग किया जाता है। रिसोर्ससैट-2 एविफ्स प्रतिबिम्बों के लिए तापीय बैंड की अनुपस्थिति में, स्वचालित मेघ एवं मेघ छाया का पता लगाने हेतु वर्णक्रमीय (स्पेकट्रमी)गुणों का उपयोग करते हुए अपर्यवेक्षित वर्गीकरण आधारित एक एल्गोर्थिम विकसित किया गया है। (1) डाउनलोड (2) प्रयोक्ता मैनुअल

आई.आर.एस. रिसोर्ससैट -2 लिस-4 बहुसपैक्ट्रमी आंकंड़ों के लिए स्विर बैंड संश्लेषण उपयोगिता

utility2स्विर बैंड का कई अनुप्रयोगों (हिम एवं मेघ का पता लगाने आदि) में उपयोग किया जाता है। रिसोर्ससैट श्रृंखला के उपग्रह में लिस-4 संवेदक लगे होते हैं जो 4, 3, 2 बैंड में 5.8 मीटर के स्थानिक विभेदन पर आंकड़े प्रदान करते हैं। लिस-3 के स्थानिक एवं वर्णक्रमीय ज्ञान का उपयोग करते हुए लिस-4 में स्विर बैंड को संश्लेषित किया गया है। यह मॉड्यूल उनकी मेटा-फ़ाइलों के साथ इनपुट के रूप में लिस-3 (बैंड 234 के रूप में स्टैक परत), लिस-4 (बैंड 2345 के रूप में स्टैक परत) को लेते हुए लिस-4 के स्थानिक विभेदन पर संश्लेषित स्विर बैंड उत्पन्न करता है। यह मॉड्यूल जियो-टिफ़ प्रारुप में इनपुट लेता है और जियो-टिफ़ प्रारुप में ही आउटपुट प्रदान करता है। वर्णक्रमीय परिवर्तन विधि से प्राप्त गुणांकों का उपयोग करते हुए और संश्लेषित स्विर बैंड प्राप्त करने के लिए इन गुणांकों को लिस-4 चित्र के बैंड 234 पर लागू करके लिस-3 चित्र के बैंड 234 एवं बैंड 345 के बीच संबंध स्थापित करने के लिए यह साफ्टवेयर मॉड्यूल विकसित किया गया है । (1) डाउनलोड (2) प्रयोक्ता मैनुअल।

रिसोर्ससैट -2 एच.डी.एफ. से जियो-टिफ रूपांतरण उपयोगिता

utility3एच.डी.एफ. का अर्थ है पदानुक्रमित डेटा प्रारूप। एच.डी.एफ.5 एक लाइब्रेरी एवं बहु-वस्तु फाइल प्रारूप है जिसमें वैज्ञानिक डेटा संग्रहित किए जाते हैं। एच.डी.एफ.5 डेटा प्रारूप विनिर्देशों से निर्मित पूरी तरह से एक नया पदानुक्रमित डेटा प्रारूप है जो लाइब्रेरी कार्यान्वयन में सहायता करता है। यह आसानी से उपलब्ध है जो पुराने एच.डी.एफ. प्रारूप की कुछ सीमाओं को और आधुनिक प्रणालियों एवं अनुप्रयोगों की वर्तमान तथा प्रत्याशित आवश्यकताओं को भी संबोधित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। वर्तमान में एच.डी.एफ. के दो संस्करण व्यापक प्रयोग में हैं: एच.डी.एफ.4 एवं एच.डी.एफ.5। एच.डी.एफ.5 को इसरो के पृथ्वी अवलोकन उपग्रह रिसोर्ससैट-2 के उत्पाद के वितरण हेतु एक प्रारूप के रूप में अपनाया गया है। रिसोर्ससैट-2 एविफ्स, लिस-3, लिस-4 (मोनो, एम.एक्स. मोड) संवेदकों के एच.डी.एफ.5 स्तर 2 आर.ए.डी./ जियो डेटा उत्पादों को जियोटिफ प्रारूप में परिवर्तित करने में प्रयोक्ताओं को सक्षम बनाने हेतु ‘एच.डी.एफ. से जियो-टिफ रूपांतरण उपयोगिता’ को विकसित किया गया है ताकि एच.डी.एफ. का समर्थन नहीं करने वाले अन्य अनुप्रयोगों में भी इन आंकड़ों का सहज उपयोग किया जा सके (1) 32 बिट लाईनैक्स संस्करण डाउनलोड करें (2) 64 बिट लाईनैक्स संस्करण डाउनलोड करें (3) 32 बिट विंडोज संस्करण डाउनलोड करें (4) 64 बिट विंडोज संस्करण डाउनलोड (5) प्रयोक्ता मैनुअल