आंकड़ा वितरण

आदेश(ऑर्डर) देने की प्रक्रिया

प्प्रयोक्ता आदेश संसाधन प्रणाली (UOPS)(यूओपीएस) एक ऑनलाइन वेब अनुप्रयोग है जिसका उपयोग करके प्रयोक्ता को संवेदक और उत्पाद चयन के साथ-साथ अपने वांछित क्षेत्र और अवधि को निर्दिष्ट करने का अनुरोध किया जाता है। प्रयोक्ता के वांछित क्षेत्र (एओआई) को एक बिंदु, बहुभुज, ड्रॉ-ऑन-मैप, स्थान का नाम, मानचित्र शीट और शेप फाइल के रूप में निर्दिष्ट किया जा सकता है। शेप फाइल आधारित एओआई विनिर्देशन के लिए, इनपुट शेप फ़ाइल ईएसआरआई संगत (कॉम्पेटिबल) प्रारूप (.shx, .shp, .dbf and .prj) में होनी चाहिए और शेप फाइल के शिखर के बीच की दूरी न्यूनतम 5 किमी होनी चाहिए। तदनुरूप विभेदक के लिए न्यूनतम आदेश 1 दृश्य है।

यूओपीएस के माध्यम से निर्मित प्रोफार्मा बिल (इन्वॉइस) के आधार पर, प्रयोक्ता, एनआरएससी को 100% अग्रिम भुगतान 18% जीएसटी सहित (लागू दिशानिर्देशों के अनुसार) नेफ्ट (एनईएफटी) के माध्यम से अंतरित कर सकता है या "वेतन एवं लेखा अधिकारी एनआरएससी" के पक्ष में, हैदराबाद में देय डिमांड ड्राफ्ट द्वारा भुगतान कर सकता है ।

सभी आंकड़े उत्पाद सुदूर संवेदन आंकड़ा नीति और भारत सरकार द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों के अनुसार प्रयोक्ताओं को वितरित किए जाएंगे। पूर्ण रूप से आवश्यक जानकारी देने और भुगतान किए जाने पर आदेश पर विचार किया जाएगा। आवश्यक वचनबंध (अंडर्टेकिंग) और प्रमाणपत्रों के साथ आंकड़ा आदेशों को यूओपीएस के माध्यम से दिया जाना चाहिए। कृपया सुनिश्चित करें कि सही उत्पाद की किस्म का चयन किया गया है। अधिक जानकारी के लिए, कृपया एनडीसी से संपर्क करें। एक बार पुष्टि हो जाने के बाद आदेश का संसाधन आरंभ हो जाए तो उसमें संशोधन या उसे रद्द नहीं किया जा सकता है जब तक कि आंकड़ा जनन के दौरान तकनीकी समस्याएं सामने नहीं आती हैं। एनडीसी के पास किसी भी आदेश को पूर्णतः या अंशतः अस्वीकार / रद्द करने का अधिकार है।